Home घरेलू उपाय ब्रेस्ट बढ़ाने का आयल

ब्रेस्ट बढ़ाने का आयल

27
Stan Badhane Ke Gharelu Upaye In Hindi

आमतौर पर ज्यादातर महिलाओं का मानना है कि ऑयल से मसाज करने पर स्तन का आकार नहीं बढ़ता है जबकि यह एक गलत धारणा है। यदि आप चाहतीं हैं की आपके छोटे ब्रेस्ट जल्दी से बड़े और सुंदर हो जाए, तो हम आपको ब्रेस्ट बढ़ाने का आयल (तेल) के नाम और इस्तेमाल करने का तरीका बताने जा रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्तन का फैट एक चर्बीदार वसा और फैटी एसिड होता है जो कि उत्तेजना के लिए उत्तरदायी होता है। जब आप ऑयल लगाकर स्तन की मालिश करती हैं तो स्तन के उत्तकों में उत्तेजना होती है जिसके कारण इसका सकारात्मक प्रभाव दिखायी देता है।

ब्रैस्ट को टाइट करने की एक्सरसाइज

हालांकि इसके लिए आपको सही तरीके से स्तनों की मालिश करनी आना चाहिए। जैसा कि हम जानते हैं कि स्तन की मालिश हमेशा सर्कुलर मोशन में ऊपर से नीचे और नीचे से ऊपर की ओर दबाव बनाते हुए करना चाहिए। अगर आप गलत तरीके से मालिश करती हैं तो आप ब्रेस्ट कैंसर और पीएमएस जैसे लक्षणों से बच सकती हैं। इस आर्टिकल में हम आपको ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए आयल के नाम और इस्तेमाल करने का तरीका बताने जा रहे हैं।

स्तन बड़ा न होने का कारण

• अगर आपके शरीर का वजन कम है या आप दुबली पतली हैं तो आपके स्तन का आकार छोटा हो सकता है।
• यदि आपकी मां या बहन का स्तन छोटा है तो आनुवांशिक कारणों से आपका स्तन भी छोटा हो सकता है।
• हार्मोन्स के असंतुलन के कारण भी स्तन का आकार नहीं बढ़ पाता है।
• इसके अलावा पर्यावरणीय कारकों से भी स्तन का विकास नहीं होता है।

स्तन की साइज बढ़ाने के लिए ऑयल

This image has an empty alt attribute; its file name is breast-size-badhane-ke-gharelu-nuskhe-in-hindi.jpgआमतौर पर ब्रेस्ट की साइज बढ़ाने के लिए जितने भी ऑयल उपलब्ध हैं ये बहुत महंगे नहीं होते हैं। इनका सही तरीके से इस्तेमाल करके आप स्तन का आकार बढ़ा सकती हैं। आइये जानते हैं कुछ मुख्य तेलों के बारे में।

स्तन का आकार बढ़ाने के लिए मेथी का तेल

जल्दी ब्रेस्ट का साइज़ बढ़ाने के लिए येह सबसे अच्छा तेल माना जाता है। दो चम्मचच मेथी के तेल को हथेली पर लेकर इसे दोनों हथेलियों के बीच रगड़ें और फिर अपने स्तन पर दोनों हाथों से पांच मिनट तक मसाज करें। रात में सोने से पहले नियमित रुप से यह क्रिया करें। आपका स्तन पहले से बड़ा हो जाएगा। वास्तव में मेथी के बीज का तेल स्तन की आसपास की त्वचा को फैलाने में मदद करता है जिसके कारण से आपको अपने स्तन में फर्क दिखायी देता है। लेकिन यह ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि स्तनों के आकार को बढ़ाने के लिए सिर्फ एक दिन नहीं बल्कि नियमित रुप से ऑयल लगाकर ब्रैस्ट की मसाज करना आवश्यक है।

ब्रेस्ट बढ़ाने का तेल ऑलिव ऑयल

ऑलिव ऑयल से अपने स्तनों की मसाज करना ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आसान तरीके में से एक है शोध में पाया गया है कि जैतून का तेल या ऑलिव ऑयल में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते हैं जो रक्त परिसंचरण में सुधार करने में बेहद सहायक होते हैं। इसमें फाइटोएस्ट्रोजेन भी होता है जो आपके शरीर में एस्ट्रोजेनिक गतिविधि में मदद करता है और इस प्रकार यह आपके स्तनों के आकार को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। दो चम्मच ऑलिव ऑयल को अपने हथेलियों के बीच लेकर रगड़ें और हल्के हाथों से धीरे धीरे स्तन की मसाज करें। यह प्रक्रिया दिन में दो बार दोहराएं। जल्दी ही आपके स्तन बड़े हो जाएंगे।

स्तन बढ़ाने के लिए मसाज आयल सोयाबीन ऑयल

ब्रेस्ट बढ़ाने का आयल में सोयाबीन तेल बहुत ही लाभदायक साबित होता है और हर घर में आसानी से मिल जाता है स्तन का आकर बढ़ाने के लिए दो चम्मच सोयाबीन के तेल को लेकर अपने स्तनों के ऊपर सर्कुलर मोशन में 10 से 15 मिनट तक मसाज करें। रात को सोने से पहले नियमित रुप से ऐसा करने से स्तनों का आकार बढ़ जाता है। माना जाता है कि सोयाबीन तेल सोयाबीन के बीज से निकाला जाता है जो शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है और जब इस ऑयल से स्तन की अच्छी तरह से मालिश की जाती है तो स्तन का आकार भी बढ़ जाता है।

ब्रैस्ट बढ़ाने का आयल लेमनग्रास इसेंशियल ऑयल

लेमनग्रास इसेंशियल ऑयल छाती बढ़ाने का आसान तरीका माना जाता है स्तन बढ़ाने के लिए 10 से 12 ड्रॉप लेमनग्रास इसेंशियल ऑयल में 30 मिलीग्राम ऑलिव ऑयल या फिर नारियल का तेल मिलाकर 5 से 10 मिनट तक दोनों स्तनों की मालिश करें। रोजाना सुबह और रात में सोने से पहले तब तक स्तनों की मसाज करें जब तक कि मनचाहा परिणाम नहीं मिल जाता है। लेमनग्रास इसेंशियल ऑयल में मोनोटेरपिन मौजूद होता है जिसे नेरोल कहा जाता है। अधिक सांद्रता पर नेरोल की एस्ट्रोजनेनिक गतिविधि बढ़ जाती है जिसके कारण स्तन फुलकर बड़ा हो जाता है।

स्तन साइज बढ़ाने के लिए तेल रोज इसेंशियल ऑयल

गुलाब का तेल एक मोनोटेरापॉइड में समृद्ध होता है जिसे जेरानियोल कहा जाता है। नेरोल की तरह जेरानियोल की भी उच्च सांद्रता पर एस्ट्रोजेनिक गतिविधि बढ़ जाती है। इसलिए गुलाब के तेल का उपयोग आपके स्तन के ऊतकों के विकास को उत्तेजित करने में मदद करता है। 10 से 12 बूंद गुलाब इसेंशियल ऑयल में 30 मिलीलीटर नारियल या ऑलिव ऑयल मिलाकर पांच से दस मिनट तक स्तनों पर मसाज करें। दिन में दो बार यह प्रक्रिया दोहराने से कुछ ही महीनों में स्तन बड़े हो जाते हैं।

ब्रेस्ट मसाज के लिए आयल लौंग का तेल

This image has an empty alt attribute; its file name is Stan-bada-nhi-hone-ka-karan-in-hindi.jpgअदरक के अर्क में लौंग का तेल मिलाकर दोनों स्तनों पर मसाज करने से स्तन की साइज बढ़ जाती है। वास्तव में इन दोनों में आयुर्वेदिक औषधीय गुण पाये जाते हैं इसके अलावा कई तरह के पोषक तत्व भी पाये जाते हैं जो स्तन को गर्म रखते हैं और कोशिकाओं के विकास में मदद करते हैं। लौंग के तेल से दो महीने तक दिन में दो बार सर्कुलर मोशन में मालिश करने से बेहतर परिणाम देखने को मिलता है। बस यह ध्यान रखें कि हथेली पर कम मात्रा में लौंग का तेल लेकर मसाज करें।

स्तन बड़ा करने का तेल है बादाम का तेल

वर्षों से बादाम के तेल का इस्तेमाल स्तन की कप साइज बढ़ाने में किया जा रहा है। वास्तव में यह स्तन की कोशिकाओं को विकसित करने में मदद करता है और इससे मालिश करने से स्तन में रक्त का प्रवाह भी बेहतर तरीके से होता है जिसके कारण स्तन का आकार तो बढ़ता ही है साथ में उम्र बढ़ने के बाद स्तन लटकता नहीं है। बादाम के तेल को स्तन पर लगाकर सात से आठ मिनट तक सर्कुलर मोशन में रगड़ें लेकिन ध्यान रहे कि निप्पल को न रगड़े। नहाने से पहले और रात को सोने से पहले नियमित रुप से मसाज करने से 8 से 10 हफ्तों में स्तन का आकार बढ़ जाता है।

छाती बढ़ाने का आयल नारियल का तेल

स्तन के आकार को बढ़ाने के लिए नारियल का तेल सबसे अच्छा माना जाता है। तेल के रूप में देखा जाता है। इसका कारण यह है कि यह गैर-चिकना और कम चिपचिपा प्रकृति का होता है। इसलिए इसकी हल्की खुशबू और कम चिपचिपी प्रकृति स्तनों के लिए उत्कृष्ट मॉइस्चराइजर का कार्य करती है और त्वचा को कोमल बनाती है। नारियल के तेल का इस्तेमाल माताएं अपने स्तन का दूध बढ़ाने के लिए भी करती हैं। मेथी पाउडर को नारियल के तेल में मिलाकर सर्कुलर मोशन में 10 मिनट तक मसाज करने से भी स्तन का आकार बढ़ जाता है।