Home मेंस हेल्थ टिप्स चुकंदर के जूस के फायदे और नुकसान

चुकंदर के जूस के फायदे और नुकसान

47
What-is-Chukandar-Juice-in-Hindi
चुकंदर एक बल्ब नुमा मीठी जड़ वाली सब्जी। है। लेकिन पोषक तत्वों के कारण चुकंदर के जूस के फायदे कई स्वासस्थ्ंय समस्यायओं के लिए होते हैं। चुकंदर जूस की तासीर और औषधीय गुण स्वाचस्थ्य के लिए अच्छेु माने जाते हैं। चुकंदर के जूस का फायदा बच्चों। से ले कर वयस्कों और बुजुर्गों के लिए होते हैं। चुकंदर जूस पीने के फायदे हृदय को स्वंस्थ रखने, रक्तफचाप नियंत्रित करने, स्टेोमिना बढ़ाने और लिवर को स्वमस्थ रखने के लिए होते हैं। अच्छीस सेहत के लिए आप घर पर बने चुकंदर के जूस का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको चुकंदर जूस के लाभ इसके पोषक तत्व और इससे होने वाले नुकसान संबंधी जानकारी बता रहे हैं। आइए जाने चुकंदर के जूस के बारे में अन्य जानकारीयां क्याव हैं।

चुकंदर जूस के बारे में

लाल रंग का दिखने वाला चुकंदर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन यह केवल खाद्य ही बल्कि पेय पदार्थ के रूप में भी इस्तेामाल किया जा सकता है। चुकंदर जूस पीने के लाभ इसमें मौजूद पोषक तत्वोंन की उच्च मात्रा के कारण होते हैं। चुकंदर का वानस्पतिक नाम बीटा वल्गैीरिस है जो कि अमारैन्थ परिवार से संबंधित है। इस पौधे के उपयोगी भागों में पत्तियां और जड़ आती हैं।

चुकंदर जूस की तासीर क्या है

औषधीय गुणों से भरपूर चुकंदर जूस ठंडी तासीर वाला पेय पदार्थ है। यही कारण है कि चुकंदर जूस को गर्मी के मौसम में अधिकांश लोग अधिक पसंद करते हैं। हालांकि अन्य खाद्य पदार्थों की तरह ही चुकंदर के जूस को बहुत ही संतुलित या कम मात्रा में सेवन करना चाहिए। अन्यपथा अधिक मात्रा में इस जूस का सेवन करना आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है।

चुकंदर का जूस क्या है

स्वास्थ्य वर्धक खाने वाली सब्जियों में चुकंदर भी शामिल है। चुकंदर किसी पौधे की जड़ का मुख्य भाग है। खाने के लिए उपयोग किये जाने के साथ ही आप चुकंदर के जूस का भी उपयोग कर सकते हैं। चुकंदर को किसी ब्लेंडर की मदद से पेस्ट बनाकर इसका जूस तैयार किया जाता है। चुकंदर जूस का इस्तेमाल कई बीमारियों के प्राकृतिक और घरेलू उपचार में प्रभावी माना जाता है। आइए जाने चुकंदर जूस में पाये जाने वाले पोषक तत्व क्याम हैं।

चुकंदर जूस के पोषक तत्व

ऐसा माना जाता है कि चुकंदर के जूस में स्वास्थ्यय को बेहतर बनाए रखने वाले लगभग सभी पोषक तत्व और खनिज पदार्थ उच्च मात्रा में होते हैं। जैसे कि प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, मैंग्नीशियम, फास्फोयरस, पोटेशियम और जिंक आदि। इसके अलावा चुकंदर के जूस में विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो फ्री रेडिकल्स से हमारे शरीर की रक्षा करने में अहम योगदान निभाते हैं। आइए जाने चुकंदर जूस पीने के फायदे क्यार होते हैं।

चुकंदर के जूस के फायदे

This image has an empty alt attribute; its file name is Chukandar-Juice-Benefits-and-Side-Effects-in-Hindi.jpgनियमित रूप से चुकंदर के जूस का सेवन करना आपको कई प्रकार के स्वाजस्थ्ंय लाभ दिला सकता है। इस पौष्टिक जूस में मौजूद नाइट्रेट रक्तचाप को कम करने और हृदय को स्वणस्थ रखने में सहायक होता है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण कैंसर का उपचार करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा नियमित रूप से चुकंदर जूस का सेवन करना रक्त शर्करा के स्तर को भी कम करने में मदद करता है। आए विस्ताजर से जाने चुकंदर का जूस पीने के फायदे और नुकसान क्या हैं।

चुकंदर जूस के फायदे बेहतर रक्त प्रवाह के लिए

चुकंदर के रस में अन्य प्राकृतिक घटकों के साथ ही नाइट्रेट की उच्च मात्रा होती है। शरीर के भीतर चेन रिएक्शन के माध्यम से इन यौगिकों को नाइट्रिक ऑक्सालइड में बदल दिया जाता है। जो कि रक्त के प्रवाह को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। नियमित रूप से चुकंदर के जूस का सेवन करना आपके मस्तिष्क और पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण को बेहतर बनाने में सहायक होता है। जिससे आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीहजन प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

चुकंदर के जूस पीने के फायदे उच्च रक्तदचाप में

चुकंदर की जड़ का उपयोग करके बनाए गए जूस में नाइट्रेट की उच्च मात्रा होती है। जिसके कारण चुकंदर जूस पीने के लाभ रक्तचाप को कम करने में मदद कर सकते हैं। चुकंदर के जूस में मौजूद पोषक तत्व और खनिज पदार्थ रक्त वाहिकाओं को फैलाने में मदद करते हैं। जिससे स्व्तंत्र रक्त प्रवाह या रक्त परिसंचरण को बढ़ावा मिलता है। जिसके परिणामस्वएरूप उच्च रक्त चाप को कम करने में मदद मिल सकती है। यदि आप भी उच्च रक्ताचाप रोगी हैं तो आपके लिए चुकंदर का जूस पीना लाभकारी हो सकता है।

चुकंदर के जूस का फायदा स्टेजमिना बढ़ाये

नियमित रूप से प्रतिदिन 1 गिलास चुकंदर का जूस पीना आपकी सहनशक्ति या स्टेमिना को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद नाइट्रेट नाइट्रिक ऑक्साचइड में परिवर्तित होने पर शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा पहुंचाता है। विशेष रूप से उस दौरान जब आप व्यासयाम कर रहे हैं या किसी शारीरिक गतिविधि का संचालन कर रहे हैं। इसके अलावा चुकंदर जूस पीने का फायदा आपको पर्याप्त ऊर्जा और शक्ति प्रदान करने में भी मदद कर सकता है।

चुकंदर के जूस पीने का फायदा लिवर के लिए

चुकंदर में बीटाइन होता है जो लिवर की कार्यक्षमता को बढ़ाने का सबसे अच्छाप उपाय है। चुकंदर का जूस पीने के दौरान अन्य पोषक तत्वोंद के साथ बीटाइन लिवर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को आसानी से बाहर निकालने में मदद करता है। जिससे लिवर संबंधी रोगों की संभावना कम हो सकती है। इसके अलावा चुकंदर के रस में एंटीऑक्सीोडेंट, विटामिन बी, कैल्शियम और आयरन की उच्च मात्रा होती है। इन घटकों की मौजूदगी भी आपके लिवर को स्वेस्थ रखने में सहायक हो सकती है।

चुकंदर जूस पीने से फायदे कैंसर के लिए

हम सभी जानते हैं कि चुकंदर के जूस में एंटीऑक्सीाडेंट की उच्च मात्रा होती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने और उनके विकास को रोकने में मदद कर सकते हैं। बीटरूट जूस में विटामिन सी और बीटाइन की उच्च मात्रा होती है जो कैंसर के लक्षणों को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाते हैं। यदि आप भी भविष्य में कैंसर की संभावनाओं को कम करना चाहते हैं तो अपने दैनिक आहार में चुकंदर के जूस का इस्तेवमाल कर सकते हैं।

चुकंदर जूस के लाभ एनीमिया के लिए

अच्छी तरह से लाल चुकंदर का रस पीने के फायदे आपको एनीमिया या खून की कमी से बचा सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि आयरन की उच्च मात्रा चुकंदर के जूस में होती है। एनीमिया रोगी के शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पानदन को बढ़ाने के लिए चुकंदर का जूस एक प्राकृतिक उपाय है। इसके अलावा रजोनिवृत्ति और मासिक धर्म संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए भी चुकंदर के रस का उपयोग किया जा सकता है।

चुकंदर जूस का उपयोग कब्ज के उपचार में

कब्ज रोगी के लिए चुकंदर का जूस पीना फायदेमंद हो सकता है। चुकंदर के रस में आंतों को स्वरस्थ रखने वाले गुण होते हैं। इसमें मौजूद फाइबर पाचन प्रक्रिया को मजबूत बनाने के साथ ही मल त्याआग को आसान बना सकता है। जिससे कब्ज रोगी फायदा प्राप्त कर सकता है। चुकंदर के रस का सेवन करना कब्ज और अन्य पाचन संबंधी समस्याचओं का प्राकृतिक इलाज माना जाता है। नियमित रूप से बीटरूट जूस का सेवन करने पर यह चयापचय प्रणाली को सुधारने में भी मदद कर सकता है। यदि आप भी पाचन संबंधी किसी समस्याक से परेशान हैं तो चुकंदर के जूस का उपयोग कर सकते हैं।

चुकंदर का इस्तेरमाल डायबिटीज उपचार में

अध्ययनों से पता चलता है कि मधुमेह के उपचार में चुकंदर का जूस आपको लाभ दिला सकता है। नियमित रूप से बीटरूट जूस का सेवन करना भोजन करने के बाद रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में सहायक हो सकता है। ऐसा इसमें मौजूद बीटाइन और शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के कारण होता है। जिन लोगों का वजन अधिक होता है उन्हें डायबिटीज होने की संभावना बहुत अधिक होती है। लेकिन ऐसे लोगों के लिए भी चुकंदर के जूस का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। आप भी अपने वजन और मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए चुकंदर जूस का उपयोग आहार के रूप में कर सकते हैं।

चुकंदर के रस के फायदे स्तंकभन दोष में

हालांकि इस बात के कोई सबूत नहीं हैं कि चुकंदर का रस स्तंउभन दोष का उपचार कर सकता है। लेकिन बहुत से लोगों का मानना है कि इस प्रकार की यौन कमजोरी को दूर करने में चुकंदर का जूस प्रभावी मदद कर सकता है। कुछ अध्यसयनों से पता चलता है कि चुकंदर के जूस में मौजूद नाइट्रिक ऑक्साइड रक्त वाहिकाओं को आराम दिलाने में मदद करता है। जिससे जननांगों में उचित रक्त प्रवाह को बढ़ाया जा सकता है। चूंकि स्तंभन दोष उचित रक्त प्रवाह न होने के कारण होता है इसलिए चुकंदर के जूस को इस समस्या के उपचार के लिए उपयोग करना लाभ दिला सकता है।

बीटरूट जूस बेनिफिट्स फॉर स्किन

त्वचा संबंधी समस्यारओं को दूर करने के लिए आप घरेलू उपाय के रूप में चुकंदर के जूस का प्रयोग कर सकते हैं। चुकंदर के जूस में प्रभावी एंटी-एजिंग गुण होते हैं। नियमित रूप से चुकंदर का जूस पीना आपके शरीर में फोलेट की कमी को दूर कर सकता है। फोलेट त्वंचा की समस्यांओं और झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकता है। चुकंदर जूस के औषधीय गुण त्वलचा कोशिकाओं के विकास और स्वाझस्थ्सय को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। जिससे आप अपनी त्वचा को स्वयस्थ और सुंदर बना सकते हैं।

चुकंदर का जूस बनाने की विधि

आप अपने घर पर ही चुकंदर का जूस तैयार कर सकते हैं। चुकंदर जूस की रेसिपी बहुत ही आसान है। चुकंदर का जूस बनाने के लिए आपको कुछ विशेष सामग्री की आवश्य्कता होती है। जैसे कि :

  • 2-4 मध्ययम आकार के चुकंदर
  • एक कंटेनर
  • एक जूसर

चुकंदर का जूस बनाने का तरीका

आप पहले चुकंदर को अच्छी तरह से धो लें। इसके बाद चुकंदर के ऊपरी छिलके को छीलकर अलग कर लें। हालांकि उच्च पोषक तत्वों की प्राप्ति के लिए चुकंदर के छिलकों को नहीं निकालना चाहिए। फिर इन चुकंदर को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें। इन टुकड़ों को जूसर में डालें और जूस निकाल लें। आप इस चुकंदर के जूस को और अधिक स्वाकदिष्ट बनाने के लिए इसमें सेवन के जूस को भी मिला सकते हैं। चुकंदर के जूस में स्वा़भाविक रूप से मिट्टी जैसा स्वाद होता है। लेकिन आप इस जूस में नींबू के रस को मिलाकर इसके स्वा़द को और भी बेहतर बना सकते हैं।

चुकंदर का जूस कितना पीना चाहिए

सामान्य रूप से चुकंदर का जूस पीने के लिए कोई निश्चित मात्रा निर्धारित नहीं की गई है। 2014 में हुए एक अध्ययन के अनुसार प्रतिदिन 250 मिलीलीटर या लगभग 1 गिलास चुकंदर का जूस पीना स्वा स्थ्ंय के लिए अच्छा होता है। यह उच्च रक्त चाप को कम करने में मदद कर सकता है। 1 गिलास चुकंदर का जूस पीने से लोगों को किसी प्रकार के दुष्प्रतभाव का अनुभव नहीं हुआ। लेकिन उनके मूत्र के रंग में बदलाव देखने को मिल सकता है।

चुकंदर का जूस पीने के नुकसान

सामान्य रूप से चुकंदर का जूस पीना सेहत के लिए अच्छाह होता है। लेकिन अधिक मात्रा में इस जूस का सेवन करने से कुछ साइड इफैक्ट भी हो सकते हैं। हालांकि चुकंदर का जूस पीने के नुकसान सामान्य होते हैं लेकिन फिर भी आपको इनसे बचना चाहिए।

  • जिन लोगों को गुर्दे में पथरी की समस्याह होती है उन्हेंक चुकंदर के जूस का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए।
  • चुकंदर के जूस में मूत्र वर्धक गुण होते हैं। इसलिए अधिक मात्रा में चुकंदर जूस का सेवन आपकी असुविधा का कारण बन सकता है।
  • यदि आप उच्च रक्तसचाप रोगी हैं तो चुकंदर का जूस आपके लिए फायदेमंद होता है। लेकिन अधिक मात्रा में चुकंदर का जूस पीने से आपका रक्तचचाप बहुत ही निम्न स्तर पर जा सकता है। इसलिए अधिक मात्रा में चुकंदर जूस का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में चुकंदर के जूस का सेवन करने से पहले आपको अपने चिकित्सक से सलाह लेना आवश्यक है।