Home उत्तर प्रदेश देवरिया: देह व्यापार का आरोपी होटल मालिक गिरफ्तार

देवरिया: देह व्यापार का आरोपी होटल मालिक गिरफ्तार

66
Deoria-Hotel-owner-arrested-for-prostitution-2

घरवालों से बिना बताए होटल पहुंचे युवक-युवतियों को जब पुलिस ने पकड़ा तो वे गिड़गिड़ाने लगे। कोई पैर पकड़कर माफी मांग रहा था। वे बार-बार कह रहे थे कि साहब हमसे गलती हो गई, जाने दो। पहली बार ही होटल में आए हैं। घरवालों और रिश्तेदार जानेंगे तो बहुत बेइज्जती होगी। किसी को मुंह कैसे दिखाएंगे। पुलिस सारी दलीलों को दरकिनार करते हुए सभी को सख्ती दिखाते हुए वाहन में बैठाकर कोतवाली और महिला थाने ले गई थी। मामला छह महीने पुराना है। इस मामले में सील हुए एक होटल का मालिक अब पुलिस की पकड़ में आ गया है।

देवरिया के स्टेशन रोड पर संचालित तीन होटलों में छह महीने पहले पुलिस ने छापा मारकर 29 महिलाएं और 27 पुरुषों को रंगरेलियां मनाते पकड़ा था। छह माह से फरार चल रहे इंडिया गेस्ट हाउस के मालिक पीर मोहम्मद कुरैशी को पुलिस ने स्टेशन रोड से शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। आवश्यक कार्रवाई कर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। होटल के चार कर्मचारियों को पहले ही पुलिस जेल भेज चुकी है। इस मामले में दस लोगों को निजी मुचलके पर छोड़ा गया था।

Deoria-Hotel-owner-arrested-for-prostitution17 जून को स्टेशन रोड के इंडिया गेस्ट हाउस, नेशनल पैलेस और सहारा पैलेस में छापे की कार्रवाई कर पुलिस ने 29 महिलाओं और 27 पुरुषों को दबोचा था। पूछताछ के बाद 46 महिला-पुरुष को छोड़ दिया गया था। दस के खिलाफ केस दर्ज कर निजी मुचलके पर छोड़ा गया था। होटल के चार कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज कर जेल भेजा गया था। मामले की जांच सीओ भाटपाररानी दिनेश सिंह यादव को दी गई थी। अब वे रुद्रपुर के सीओ हैं। इस मामले में दो लोग फरार चल रहे थे। एक ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था।

पुलिस को इंडिया गेस्ट हाउस के मालिक पीर मोहम्मद कुरैशी की तलाश थी। शनिवार को सदर कोतवाली पुलिस ने पीर मोहम्मद कुरैशी को स्टेशन रोड से दबोच लिया। सदर कोतवाल अरुण मौर्य ने बताया कि इंडिया गेस्ट हाउस के मालिक पीर मोहम्मद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इस मामले के सभी 16 आरोपियों पर पुलिस की कार्रवाई हो चुकी है।

गौरतलब है कि स्टेशन रोड के अधिकांश होटलों में अय्याशी का धंधा काफी समय से चलता रहा है। पहले भी कई बार हुई कार्रवाई में कई जोड़े पकड़े गए। कुछ दिनों तक धंधा बंद रहता है तो फिर से शुरू हो जाता है। इन होटलों में युवक-युवतियों से ली जाने वाली आईडी न तो तस्दीक की जाती है और न ही उनके आपसी संबंधों के बारे में जानकारी ली जाती है। अधिक रुपये की लालच में युवक-युवतियों को होटल में कमरा भी सहजता से उपलब्ध हो जाता है। स्थानीय लोगों की शिकायत को पुलिस गंभीरता से नहीं लेती थी।

नतीजा यह हुआ कि होटलवालों का मनोबल बढ़ता गया। स्थानीय लोगों ने इस बारे में एसपी से शिकायत की तो पुलिस हरकत में आ गई। तीन होटलों में ही छापेमारी की गई तो रंगरेलियां मनाते पकड़ लिए गए। पकड़े गए लोग पुलिस के सामने गिड़गिड़ाने लगे। एक युवती ने पुलिस को बताया कि शादी तय है। दो दिन बाद ही होने वाली है। शादी से पूर्व प्रेमी से मिलने का वादा की थी, इसलिए मिलने चली आई। कुछ अपने को पति-पत्नी तो कुछ बेइज्जती होने की दुहाई देकर छोड़ने की बात कह रही थीं। छापेमारी करने पहुंचे पुलिसवालों ने किसी की न सुनी।