Home घरेलू उपाय क्या आप जानते है, सालों साल निरोगी रहने के तरीके

क्या आप जानते है, सालों साल निरोगी रहने के तरीके

21
do-you-know,-ways-to-remain-healthy-for-years

हेल्थ स्वास्थ को मुख्य रूप से तीन मापदंडो मे विभाजित किया जाता है

  • शारीरिक
  • मानसिक
  • पोषण

शारीरिक स्वास्थ का अर्थ है किसी व्यक्ति का बाहरी रूप, मानसिक स्वास्थ का अर्थ है किसी व्यक्ति का हर परिस्थिति मे शांत एवं धेर्यवान होने की छमता और पोषण का अर्थ है किसी व्यक्ति के शरीर मे उपस्थित पोषक तत्वों की किसी रोग से लड़ने की छमता | स्वास्थ्य पेशेवरो का मानना है कि केंसर , मधुमेह और कई अन्य मानसिक और शारीरिक स्वास्थ मुद्दों जैसे की अबसाद (mental and physical health),सुस्त रवैया आदि व्यक्ति को स्वस्थ्य व फिट रहने से रोकते है अस्वास्थ्कर और अयोग्य जीवनशैली, मोटापा आदि समय पूर्व म्रत्यु के कारण माने जाते है शारीरिक फिटनेस की कमी ने मधुमेय(diabetes),ह्रदय रोग (heart diseases) और गंभीर स्वास्थय समस्याओ के लिए मंच तैयार कर दिया है | चलना, दोड़ना, साईकिल चलाना, खेलना, तैराकी, बागवानी, भारोत्तोलन (weight lifting) और योग कुछ महत्वपूर्ण गतिविधिया है जो हमें फिट और स्वस्थ्य जीवन शैली बनाये रखने मे सहायता करती है | वह व्यक्ति जो दोनों शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ्य है, जीवन के उतार चढाव का सामना करने मे अधिक सक्षम होते है, और परिस्थितियो मे कठोर बदलावों से प्रभावित नहीं होते |
सुबह की सूर्य की किरणों और ताज़ी हवा को लेने वाले लोग अधिक सक्रीय एवं उर्जावान महसूस करते है, सम्पूर्ण स्वास्थ्य, फिटनेस और मानसिक स्वास्थ्य को सुनिश्चत करने के लिए 7 प्रभावकारी तरीके:

  • पोषण – संतुलित आहार
  • मानसिक विश्राम – संतुलित जीवनशैली
  • शारीरिक- मांसपेशियों का विकास
  • स्थिरता – दोनों शारीरिक और मानसिक
  • नींद – नियमित नींद
  • हानिकारक पदार्थो के सेवन से बचाव
  • व्यायाम और योग

संतुलित, स्वस्थ्य और फिट जीवन शैली बनाये रखने के लिए किये जाने वाले काम:

  • शरीर को हाइड्रेटेड रखना – पर्याप्त मात्रा मे पानी पीना
  • भोजन के पहले और बाद मे हाथ धोना –स्वच्छता बनाये रखना
  • नियमित व्यायाम करना
  • पोषक तत्वों का सेवन करना
  • स्वस्थ्य रहने के लिए पोषण और फिटनेस आवश्यक है,
  • सही पोषक भोजन खाने और सही मात्रा मे व्यायाम करने से हम बहुत ही गंभीर,
  • जीवन को धमकाने वाली बीमारियों के होने की संभावना को भी कम कर सकते है|