Home दिल्ली हिन्दू रक्षा दल ने ली JNU हिंसा की जिम्मेदारी, दी चेतावनी- आगे...

हिन्दू रक्षा दल ने ली JNU हिंसा की जिम्मेदारी, दी चेतावनी- आगे भी करेंगे ऐसी कार्रवाई

5
Hindu Raksha Dal took responsibility for JNU violence

नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में दो छात्र गुटों में झड़प हो गई. जिसमें कई छात्र और टीचर घायल हो गए, जिन्‍हें इलाज के लिए एम्‍स में भर्ती कराया गया है. जेएनयू में हुई इस झड़प में कई छात्रों को गंभीर चोटें आई हैं. मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने सोमवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा भड़काने और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का केस दर्ज किया है. वहीं इस हिंसा की पूरी जिम्मेदारी हिन्दू रक्षा दल ने लेते हुए कहा है कि जेएनयू में रविवार को हुई मारपीट उन्हीं के कार्यकर्ताओं ने की है.

हिन्दू रक्षा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पिंकी चौधरी ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि छात्रों की पिटाई करने वाले उनके कार्यकर्ता थे. उन्होंने कहा कि जेएनयू में देश विरोधी गतिविधियां होती हैं जोकि उन्हें बर्दाश्त नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर कोई देश के खिलाफ साजिश रचेगा तो वो उसी तरह जवाब देंगे जिस प्रकार रविवार को जेएनयू में दिया गया. पिंकी चौधरी ने वीडियो में कहा कि अगर आगे भी किसी ने ऐसी देश विरोधी गतिविधियां करने की कोशिश की तो हम ऐसी ही कार्रवाई बाकी की यूनिवर्सिटी में करवाएंगे. हालांकि अभी यह सिर्फ हिन्दू रक्षा दल का दावा है, इस मामले में पुलिस को कोई भी साक्ष्य नहीं मिले हैं.

हो सकता है टीआरपी का गेम

बहरहाल, पिंकी चौधरी का ये एक टीआरपी गेम भी हो सकता है. बता दें कि पिंकी चौधरी और उनके कार्यकर्ताओ ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के ऑफिस पर भी पथराव किया था. इसके अलावा वो पहले भी ऐसे मामलों में जेल जा चुके हैं.

छात्रों और शिक्षकों पर किया गया था हमला, 28 लोग हुए थे घायल

जेएनयू परिसर में रविवार रात उस वक्त हिंसा भड़क गई थी, जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था, इसके बाद प्रशासन ने पुलिस को बुलाया. इस हमले में जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित कम से कम 28 लोग घायल हुए हैं.

JNU छात्र संघ का दावाजेएनयू छात्र संघ (JNUSU) ने दावा किया है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने इस हिंसा को अंजाम दिया है. जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद ने ट्वीट कर इस घटना के लिए ABVP को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने लिखा, ‘भारी संख्या में ABVP के छात्र जेएनयू के साबरमति ढाबा के बाहर इकट्ठा हुए. उनके हाथों में लाठी और रॉड्स थे. वो हॉस्टल और कार के शीशे तोड़ रहे थे. जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष को बुरी तरह से पीटा गया. उसके सिर से बहुत सारा खून निकल रहा था.