Home घरेलू उपाय दिमाग तेज करने के घरेलू नुस्खे

दिमाग तेज करने के घरेलू नुस्खे

110
Home-Remedies-To-Improve-Brain-Power-In-Hindi

जीवन में सफल होने के लिए दिमाग का स्वस्थ होना बेहद जरूरी है, क्योंकि दिमाग ही हमारे सभी बॉडी फंक्शन को कंट्रोल करता है। लेकिन आज की हेक्टिक लाइफ में कई वजहों से लोगों का दिमाग कमजोर होने लगा है। इसकी कई वजह हैं। बढ़ती उम्र, खानपान में बदलाव, तनाव और दवाओं का ज्यादा इस्तेमाल करने से दिमाग कमजोर हो जाता है। कहने को यह एक आम समस्या है, लेकिन समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया जाए, तो आगे चलकर अल्जाइमर जैसे रोग भी हो सकते हैं। हालांकि, आजकल लोग ब्रेन बूस्ट करने वाली दवाओं का सहारा ले रहे हैं, लेकिन इसके फायदे कम और नुकसान ज्यादा देखने को मिलते हैं। ऐसे में दिमाग को तेज करने के लिए अगर आपको घर बैठे ही कुछ उपाय या तरीके मिल जाए, तो कैसा रहे।

जी हां, ऐसे बहुत से आसान और सरल तरीके हैं, जिनकी मदद से आप लंबे समय तक अपने दिमाग को स्वस्थ, जवां और तेज बना सकते हैं। जब भी स्वस्थ शरीर की बात आती है, तो हर कोई पहले अपनी फिजिकल फिटनेस के बारे में सोचता है। लेकिन स्वस्थ शरीर के साथ स्वस्थ दिमाग का होना भी जरूरी है। स्वस्थ दिमाग वाला व्यक्ति जीवन के हर स्तर पर अपनी अलग पहचान बनाने में कामयाब होता है। कुछ लोगों का दिमाग कमजोर होता है, जिस कारण उन्हें कई चीजें याद नहीं रहतीं, वहीं कुछ लोगों की कंसन्ट्रेशन पॉवर भी कमजोर होती है, जिस कारण वह किसी चीज पर ठीक से फोकस नहीं कर पाते। अगर आपको भी कुछ ऐसी ही समस्याओं से गुजरना पड़ता है, तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं, दिमाग को तेज करने के कुछ कामयाब घरेलू नुस्खे। यकीनन, इन्हें अपनाकर आप अपने दिमाग की क्षमता को दस गुना तेज कर सकते हैं।

दिमाग तेज करने के आसान तरीके

कई व्यस्तताओं के कारण चीजें भूलना सामान्य है। यदि आपको भी कोई बात देर तक याद नहीं रहती, कुछ रख कर भूल जाते हैं, पढ़ा हुआ याद नहीं रख पाते, तो याददाश्त में सुधार करने और भविष्य में इन समस्याओं से बचने के लिए नीचे हमारे द्वारा बताए गए घरेलू उपचार आजमाकर देख सकते हैं। इनसे आपको दिमाग तेज करने में बहुत मदद मिलेगी।

दिमाग तेज करने का घरेलू उपाय सूरजमुखी के बीज

सूरजमुखी के बीज आपका दिमाग तेज करने का सबसे बेहतर घरेलू उपाय है। इन बीजों में विटामिन ए और अमीनो एसिड की मात्रा अधिक होती है, जो हमारे दिमाग की थकावट को दूर कर मेमोरी को शार्प बनाती है। रोजाना इसका सेवन करने से दिमाग के कॉग्निटिव फंक्शन में तेजी से सुधार आता है और मुश्किल चीजें भी आसानी से याद रहने लगती हैं। इस नुस्खे को तैयार करने के लिए 100 ग्राम अलसी, 100 ग्राम कद्दू के बीज, 100 ग्राम सूरजमुखी के बीज और 50 ग्राम सौंफ में 50 ग्राम मिश्री मिलाएं। इन सभी सामग्री को मिक्सर में पीसकर एक पाउडर बना लें और सुबह शाम एक-एक चम्मच इसका सेवन खाने के बाद करें। आपको बता दें, कि कद्दू के बीज में पोषक तत्वों का भंडार है, इसमें मौजूद विटामिन ए, ई, जिंक, ओमेगा-3 फैटी एसिड स्मरण शक्ति को मजूबत करते हैं और सोचने की क्षमता को भी तेज करते हैं।

अखरोट से तेज करें अपना दिमाग

अखरोट आपके दिमाग को तेज करने और सोचने की क्षमता को बढ़ाता है। इनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होते हैं। ये फैटी एसिड आपके दिमाग की हिफाजत करने के साथ इसे खतरनाक बीमारियों से भी बचाते हैं। अखरोट आपके दिमाग में ब्लड वैसल्स के अंदर खून के बहाव को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसके अलावा, इसमें मौजूद विटामिन बी-6 और मैग्नीशियम आपके दिमाग को हेल्दी रखते हैं। इसलिए रोजाना अपनी डाइट में दो से तीन अखरोट जरूर लें। ध्यान रखें, कि रात में अखरोट पानी में भिगोएं और और सुबह उठकर इन्हें खाएं। नियमित रूप से इसका सेवन करने से दिमागी कमजोरी को बहुत कम समय में दूर कर लेंगे।

तेज दिमाग के लिए पीएं गर्म दूध

गर्म दूध का घरेलू उपाय आपकी याददाश्त बढ़ाने में आपकी बहुत मदद करेगा। इसका इस्तेमाल करने के लिए गर्म दूध के साथ शहद और इलायची पाउडर मिलाएं। रात में सोने से पहले इसे पी लें। रोजाना ऐसा करने से आपका ब्रेन शार्प हो जाएगा।

स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए खूब पानी पीएं

पानी पीने से आपकी मेमोरी शार्प होती है। कहा भी जाता है, कि अगर किसी काम को शुरू करने से पहले या परीक्षा देने से पहले पानी पी लिया जाए, तो इससे आप चीजें भूलते नहीं है। पानी पीने से दिमाग ज्यादा तेजी से प्रतिक्रिया करता है। जर्नल ऑफ पोषण रिसर्च के अनुसार, अगर आपके शरीर में कभी डिहाइड्रेशन यानि पानी की कमी हो भी जाए, तो शरीर पानी की पूर्ति मास्तिष्क में मौजूद पानी से करता है। इसलिए शरीर में पानी की मात्रा भरपूर होनी चाहिए, इसके लिए दिनभर में 7 से 8 गिलास पानी पीना बहुत जरूरी है।

याददाश्त तेज करने के लिए पीएं ग्रीन टी

हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक, ग्रीन टी आपके दिमाग की प्रॉपर फंक्शनिंग के लिए बहुत जरूरी है। ग्रीन टी याददाश्त को बढ़ाने में सहायक है। इसमें मौजूद कंपाउड्स कमजोर हो चुके ब्रेन सेल्स को रिपेयर करने में भी मदद करते हैं। इसके अलावा ग्रीन टी की पत्तियों में एक तरह का अमीनो एसिड पाया जाता है। जापान में हुई एक रिसर्च के अनुसार यह एसिड तनाव को कम कर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है। दिमाग तेज करने के लिए ग्रीन टी के बहुत फायदे हैं। इसमें मौजूद कैफीन थकान दूर कर दिनभर आपको चुस्त और फुर्तीला बनाए रखता है। इसलिए दिनभर में एक से दो कप ग्रीन टी का सेवन जरूर करना चाहिए।

दिमाग तेज करने का घरेलू उपाय ध्यान करें

मेडिटेशन यानि ध्यान आपके स्वास्थ्य पर कई तरह से सकारात्मक प्रभाव डालता है। यह तनाव को कम करने और मेमोरी में सुधार करने का बहुत अच्छा तरीका है। कई शोधों से पता चला है, कि मेडिटेशन दिमाग में ग्रे पदार्थ को बढ़ा सकता है और स्थानिक कार्य स्मृति में सुधार कर सकता है। वहीं आप योग की मदद से भी दिमाग को तेज बना सकते हैं। योग मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ बनाए रखने के लिए बहुत अच्छा है। सूर्य नमस्कार शारीरिक और मानसिक विकास के लिए सबसे अच्छा योग है।

मेमोरी को तेज करने के लिए पर्याप्त नींद लें

दिमाग को तुरंत तेज करने के लिए पर्याप्त नींद लेनी चाहिए। रिसर्च के अनुसार खराब नींद आपकी याददाश्त को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। इसलिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सलाह है, कि वयस्कों को हर रात सात से नौ घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए।

झपकी लेने से बुद्धि होती है तेज

अगर आप अपना दिमाग वाकई बहुत तेज करना चाहते हैं, तो रोजाना कुछ मिनट की झपकी लेने की आदत डाल लें। जर्मनी में हुई एक रिसर्च के अनुसार, जो लोग काम के बीच में झपकी लेते रहते हैं, उनकी स्मरण शक्ति अन्य लोगों के मुकाबले 25 प्रतिशत ज्यादा होती है। बता दें, कि कम समय वाली स्मरण शक्ति दिमाग के हिप्पोकैंपस क्षेत्र में मौजूद होती है। अगर आप झपकी लेते हैं, तो ये इस स्मरण शक्ति को नियोकार्टेक्स में स्थानांतरित कर देता है। नियोकार्टोक्स दिमाग का वो भाग है, जिसमें सुनने और देखने की शक्ति ज्यादा रहती है। यह स्मरण शक्ति इस हिस्से में सबसे ज्यादा सुरक्षित मानी जाती है।

दिमाग को तेज बनाए एक्सरसाइज

एक्सरसाइज शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी उम्र के लोगों के लिए दिमाग तेज करने में बहुत मदद करती है। कई अध्ययनों से पता चला है, कि व्यायाम न्यूरोप्रोटेक्टिव प्रोटीन के स्त्राव को बढ़ाने के साथ न्यूरोन्स के विकास में सुधार कर सकता है। इसलिए अपने रूटीन में ताकत वाली एक्सरसाइज करें। 20 मिनट तक ताकत बढ़ाने वाली एक्सरसाइज करने से मांसपेशियां मजूबत होती है, जिससे दिमाग तेज होता है। साथ ही व्यायाम करने से दिमाग में ऑक्सीजन की पूर्ति होती है, जिससे दिमाग से जुड़ी किसी बीमारी के होने का खतरा कम होता है। आपको बता दें कि, जो लोग व्यायाम करते हैं, उनमें दिमाग की गति बढ़ाने वाला प्रोटीन 32 प्रतिशत पाया जाता है, जो आपकी निणर्य लेने की क्षमता और सोच को बेहतर बनाता है।

बुद्धि का विकास करने के लिए स्क्रीन ना देखें

ज्यादातर लोग रात में सोने से पहले मोबाइल फोन या टीवी स्क्रीन पर समय बिताते हैं। लेकिन ये आपके दिमाग को कमजोर बना सकता है। इन स्क्रीन्स में से रिलीज होने वाली ब्लू लाइट मेलाटोनिन नामक हार्मोन के उत्पादन के रोकती है, जो आपके स्लीप वेक साइकिल को कंट्रोल करती है। इसलिए सोते हुए गैजेट्स अपने से दूर ही रखें और हो सके, तो सोने से पहले टीवी स्क्रीन या मोबाइल न देखें।

आज भी बहुत से लोग कमजोर दिमाग के कारण परेशान हैं। यह स्थिति केवल बुजुर्गों की ही नहीं बल्कि युवाओं की भी है। कहने को यह आम समस्या है, लेकिन इस समस्या का ठीक से इलाज बेहद जरूरी है। इसके लिए अगर आप दवाओं के सेवन से बचना चाहते हैं, तो दिमाग को तेज करने और याददाश्त को बढ़ाने के लिए हमारे द्वारा ऊपर बताए गए घरेलू उपायों का विकल्प चुन सकते हैं। यहां तक की भविष्य में ऐसी स्थिति से बचने के लिए अपने रूटीन में ब्रेन एक्सरसाइज के साथ एक स्वस्थ और पौष्टिक आहार लेने की आदत जरूर डालें।