Home भारत महाराष्‍ट्र में कैसे बनेगी सरकार, NCP-Congress के नेताओं की बैठक में आज...

महाराष्‍ट्र में कैसे बनेगी सरकार, NCP-Congress के नेताओं की बैठक में आज होगा फैसला

17

एनसीपी ने शरद पवार को बातचीत के लिए अधिकृत किया है. एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि शाम 5 बजे कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मलिकार्जुन खडगे समेत कुछ और कांग्रेस नेता मुंबई आएंगे.

महाराष्ट्र: एनसीपी ने शरद पवार को बातचीत के लिए अधिकृत किया है. एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि शाम 5 बजे कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता मलिकार्जुन खडगे समेत कुछ और कांग्रेस नेता मुंबई आएंगे और यही एनसीपी नेता शरद पवार अपने पार्टी के कुछ और नेताओं के साथ सरकार बनाने को लेकर विमर्श करेंगे. सरकार बनाए जाने के सवाल पर एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि मेरा स्‍पष्‍ट मानना है कि जब तक सरकार में तीनों दलों के नेता शामिल नहीं होंगे तब तक राज्‍य में स्‍थाई सरकार नहीं बन सकती. जब सवाल किया गया कि राज्‍य राष्‍ट्रपति शासन लगाए जाने की सिफारिश की गई है, इस सवाल के जवाब में एनसीपी नेता ने कहा कि राजभवन से इसपर खुलासा आ गया है कि ऐसी कोई सिफारिश नहीं की गई है.

राज्‍य में पिछली सरकार का कार्यकाल 9 नवंबर को समाप्‍त हो गया था. जिसके बाद राज्‍य में चुनी हुई सरकार बन जानी चाहिए थी लेकिन कोई भी राजनीतिक दल या गठबंधन ने सरकार बनाने का बहुमत के साथ अभी तक दावा पेश नहीं किया है. इससे पहले दो राज्‍यों क्रमश: महाराष्‍ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव हुए. चुनाव परिणाम आने के साथ यह स्‍पष्‍ट हो गया था कि महाराष्‍ट्र में बीजेपी-शिवसेना की सरकार बनने जा रही है. लेकिन महाराष्‍ट्र में बीजेपी-शिवसेना को बहुमत मिलने के बाद भी सरकार नहीं बन पाई.

महाराष्‍ट्र के चुनाव परिणाम आने के बाद शिवसेना ने मुख्‍यमंत्री पद की मांग शुरू कर दी. शिवसेना की ओर से यह बताया गया कि चुनाव से पहले बीजेपी ने ढ़ाई-ढ़ाई साल मुख्‍यमंत्री पर सहमति दी थी लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद बीजेपी अपने वादे से मुकर गई. बीजेपी की ओर से भी बात बनने की उम्‍मीद थी लेकिन यह उम्‍मीद उस समय समाप्‍त हो गया जब बीजेपी की ओर से राज्‍यपाल को यह सूचित किया गया कि बीजेपी सरकार बनाने में असमर्थ है. इधर केंद्र की मोदी सरकार में शामिल शिवसेना का एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत ने केंद्रीय मंत्री-मंडल से इस्‍तीफा दे दिया और शिवसेना ने एनडीए से हटने की घोषणा कर दी. इसके बाद शिवसेना ने एनसीपी से संपर्क किया और यह संकेत मिला कि वह समर्थन दे सकती है. हालांकि शिवसेना राज्‍यपाल को किसी भी दल का समर्थन पत्र देने में नाकाम रहा लेकिन राज्‍यपाल से और समय दिए जाने की मांग की. राज्‍यपाल ने उनकी मांग को ठुकरा दिया.

इस बीच शिवसेना को समर्थन दिए जाने को लेकर कांग्रेस की दिनभर बैठक होते रही लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला. सूत्रों के हवाले से यह खबर आई कि कांग्रेस सरकार को बाहर से समर्थन देने को तैयार है लेकिन इसकी घोषणा नहीं की गई. एनसीपी के साथ भी कांग्रेस की बैठक को लेकर खबर आई लेकिन यह स्‍पष्‍ट नहीं हुआ कि ताजा स्‍थ‍िति क्‍या है. अभी एनसीपी विधायकों की बैठक हुई जिसके बाद पार्टी के वरिष्‍ठ नेता नवाब मलिक ने प्रेस से कहा कि सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस से बात करने के लिए पार्टी के वरिष्‍ठ नेता शरद पवार को अधिकृत किया गया है. उन्‍होंने कहा कि आज शाम 5 बजे कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेताओं के साथ मुंबई में ही बातचीत होगी जिसमें आगे की रणनीति बनाई जाएगी. उन्‍होंने कहा कि मेरा स्‍पष्‍ट मत है कि राज्‍य में स्‍थाई सरकार के लिए तीनों दलों को सरकार में शामिल होना होगा.