Home घरेलू उपाय बढ़ती उम्र (एजिंग) के लक्षण कम करने के उपाय

बढ़ती उम्र (एजिंग) के लक्षण कम करने के उपाय

128
badhatee-umr-ejing-ke-lakshan-kam-karane-ke-upaay

यदि आप उम्र बढ़ने (एजिंग) के शुरुआती लक्षणों से परेशान हैं? तो एजिंग यानि बढ़ती उम्र के लक्षण को कम करने के आयुर्वेदिक उपाय मौजूद हैं। जिनका उपयोग कर आप बढ़ती उम्र के लक्षण को कम कर सकते हैं। अक्सर उम्र बढ़ने के साथ व्यक्ति के शरीर में एजिंग के लक्षण दिखायी देने लगते हैं।

कुछ लोगों का मानना है कि बाल सफेद होना एजिंग का सबसे बड़ा लक्षण है जबकि कुछ लोग यह मानते हैं कि एजिंग का सबसे बड़ा लक्षण व्यक्ति के चेहरे पर दिखायी देता है। वास्तव में यह सच भी है, हमारे चेहरे की त्वचा बढ़ती उम्र के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित होती है। चेहरे पर फाइन लाइन्स और झुर्रियों से एजिंग को पहचाना जाता है। माना जाता है कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं बढ़ती उम्र या एजिंग को छुपाने के लिए तरह तरह के तरीके अपनाती हैं। इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि बढ़ती उम्र यानि एजिंग के लक्षण क्या होते है और एजिंग कम करने के घरेलू उपाय क्या हैं।

एजिंग (बढ़ती उम्र) के कारण

ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से समय से पहले ही एजिंग के लक्षण दिखने लगते हैं। आइये जानते हैं एजिंग के कारण क्या हैं।
• अधिक वसायुक्त खाद्य वस्तुएं खाने, संसाधित भोज्य पदार्थ और स्टार्चयुक्त सब्जियां खाने के कारण मुक्त कण अधिक मात्रा में बनते हैं जिनके कारण एजिंग के लक्षण दिखायी देने लगते हैं।
• अनिद्रा की समस्या होने और आंखों के नीचे डॉर्क सर्कल होने पर त्वचा खराब हो जाती है जिससे एजिंग की समस्या बढ़ जाती है।
• अधिक मादक पदार्थों का सेवन करने के कारण चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं जिससे एजिंग के लक्षण दिखायी देने लगते हैं।
• धूप में त्वचा जल जाने के कारण चेहरे की नमी खत्म हो जाती है जिसके कारण एजिंग के लक्षण दिखने लगते हैं।
• खराब जीवन शैली, ताजे फल और हरी सब्जियां कम खाने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा घट जाती है और मुक्त कण तेजी से बनने लगते हैं जिसके कारण एजिंग की समस्या होती है।
• अधिक तला भूना खाने, पैकेट की चीजें खाने, अस्थमा, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल बढ़ने और डायबिटीज होने के कारण भी एजिंग के लक्षण दिखायी देने लगते हैं।

एजिंग (बढ़ती उम्र) के लक्षण

एजिंग के लक्षण बहुत आम होते हैं और आमतौर पर सभी व्यक्तियों में एक जैसे ही दिखायी देते हैं। आइये जानते हैं एजिंग के लक्षण क्या हैं।
• चेहरे पर फाइन लाइन्स और झुर्रियां पड़ने लगती हैं।
• स्किन ढीली हो जाती है और ग्लो खत्म होने लगता है।
• त्वचा पर मुक्त कणों का उत्पादन अधिक होने के कारण त्वचा क्षतिग्रस्त होने लगती है।
• माथे पर लाइन्स आ जाती हैं।
• आंखों के नीचे काले घेरे पड़ने लगते हैं।
• त्वचा का रंग फीका पड़ने लगता है और चमक खत्म होने लगती है।

एंटी एजिंग के प्राकृतिक घरेलू उपाय और उपचार

एजिंग के लक्षण कम करने के लिए अंडे का पैक लगाएं

ejing-ke-lakshan-kam-karane-ke-lie-ande-ka-paik-lagaenएक स्टडी में पाया गया है कि अंडे की सफेदी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए पावर हाउस का काम करती है। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड, प्रोटीन और जिंक पाया जाता है जो चेहरे को टाइट रखने का काम करता है। एक अंडे को तोड़कर सफेदी निकालें और इसमें आधा चम्मच ताजे दूध की क्रीम और एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं। इन तीनों को मिलाकर अच्छी तरह पेस्ट बना लें और चेहरे पर इस पैक को लगाएं। 15 मिनट बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें। एंटी एजिंग के लिए यह एक बेहतर घरेलू उपाय है।

बढ़ती उम्र के लक्षण कम करने के लिए एवोकैडो मास्क लगाएं

एवोकैडो त्वचा की चमक को बढ़ाने और बढ़ती उम्र के कारण चेहरे पर पड़ी झुर्रियों और फाइन लाइन्स को कम करने में प्रभावी तरीके से काम करता है। एवोकैडो में कैरोटिनॉयड और विटामिन ई पाया जाता है तो त्वचा को फ्री रेडिकल से क्षतिग्रस्त होने से बचाता है और विटामिन सी त्वचा पर कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाता है जिसके कारण चेहरे की त्वचा ढीली नहीं पड़ती है। एक एवोकैडो को अच्छी तरह से छिलकर इसे पीस लें और पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद हल्के हाथों से चेहरे पर मसाज करके ठंडे पानी से चेहरा धो लें। ऐसा करने पर आपको जल्दी ही बढ़ती उम्र के लक्षणों से छुटकारा मिल जाएगा।

अरंडी का तेल दूर करता है बढ़ती उम्र के लक्षण

बढ़ती उम्र के असर को कम करने के लिए अरंडी का तेल भी बहुत फायदेमंद होता है। जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है त्वचा की नमी भी कम होती जाती है जिसके कारण स्किन ड्राई दिखती है और चेहरे पर फाइन लाइन और झुर्रियां साफ दिखायी देती हैं। इन्हें कम करने के लिए हाथ पर अरंडी का तेल लें और हल्के हाथों से गर्दन और चेहरे पर मसाज करें और एक घंटे के लिए छोड़ दें। संभव हो तो यह क्रिया रात को सोते समय रोजाना करें और सुबह उठने के बाद चेहरा धोएं। ऐसा करने से आपके चेहरे पर बढ़ती उम्र का लक्षण नहीं दिखायी देगा।

घर का बना एंटी एजिंग फेस मास्क केले का पैक

केले में एंटी एजिंग गुण पाया जाता है और यह प्राचीन काल से ही बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है। इसके अलावा केले में विटामिन ए, बी, ई पाया जाता है और यह जिंक, पोटैशियम और आयरन का बढ़िया स्रोत भी होता है जो हमेशा जवान दिखने में मदद करता है। एक पके केले को अच्छी तरह मसलें और इसमें एक चम्मच गुलाब जल, एक चम्मच शहद और एक चम्मच दही मिलाकर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह लगाएं और 20 मिनट बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें। बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए यह एक अचूक उपाय है।

जवान दिखने के लिए फूलों का एंटी एजिंग फेस मास्क

एक मुट्ठी गेंदे के फूल की पंखुड़ियां, एक मुट्ठी गुलाब की पंखुड़ियां और एक मुट्ठी कैमोमाइल की पंखुड़ियां लें और इन्हें अच्छी तरह से पीसकर इसमें चार बूंद जैतून का तेल और थोड़ा सा पानी मिलाकर फेस मास्क बनाएं। इस मास्क को चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें और फिर चेहरे पर टोनर या मॉश्चराइजर लगाएं। यह विधि आजमाने से बढ़ती उम्र के लक्षण गायब हो जाते हैं। गेंदे की पंखुड़ियों में पोषक तत्व पाया जाता है और गुलाब की पंखुड़ियों में विटामिन ई पाया जाता है जो चेहरे को नमी प्रदान करता है। कैमोमाइल की पंखुड़ियां त्वचा को लटकने नहीं देता है और त्वचा पर कसाव लाता है।

बढ़ती उम्र के लक्षण दूर करने के लिए शिलाजीत का सेवन करें

शिलाजीत में चिकित्सकीय गुण पाया जाता है जो कई तरह के विकारों को दूर करने का काम तो करता ही है साथ में बढ़ती उम्र के लक्षणों को भी दूर करने में मदद करता है। शिलाजीत काले भूरे रंग का एक चिपचिपा पदार्थ है जो हिमालय के आसपास के क्षेत्रों में पाया जाता है। शिलाजीत में एंटी एजिंग गुण पाया जाता है और रोजाना कैप्सूल के रूप में शिलाजीत का सेवन करने से चेहरा जवान दिखता है।

दही का पैक बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए

This image has an empty alt attribute; its file name is dahee-ka-paik-badhatee-umr-ke-lakshanon-ko-kam-karane-ke-lie.jpgदही में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, मिनरल, एंजाइम और फैट जैसे तत्व पाये जाते हैं जो चेहरे को हाइड्रेट करने में मदद करते हैं जिसके कारण बढ़ती उम्र के कारण चेहरे पर झुर्रियां नहीं आती हैं। दही चेहरे के पोरों को टाइट करने में मदद करता है। दो चम्मच दही में एक चम्मच शहद और एक चम्मच नींबू का रस, विटामिन ई का एक कैप्सूल और एक चुटकी हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट बाद चेहरे को पानी से धो लें। बढ़ती उम्र के लक्षण शीघ्र ही कम हो जाएंगे।