Home भारत मेघालय में इंटरनेट-एसएमएस बंद, शिलॉन्ग में बिल के विरोध में सड़कों पर...

मेघालय में इंटरनेट-एसएमएस बंद, शिलॉन्ग में बिल के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग तो लगा कर्फ्यू

32
people-took-curfew-on-the-streets-to-protest-against-the-bill-in-Shillong

शिलॉन्ग: नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) कानून की शक्ल ले चुका है. इस बिल का पूर्वोत्तर राज्यों में जबरदस्त विरोध हो रहा है. असम और त्रिपुरा के बाद अब विरोध की चिंगारी मेघालय (Meghalaya) पहुंच चुकी है. वहां सरकार ने एहतियातन मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस पर रोक लगा दी है. राजधानी शिलॉन्ग (Shillong) में हो रहे प्रदर्शनों को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है.

मेघालय में दो दिन के लिए एसएमएस और मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाई गई है. दरअसल सोशल मीडिया पर शिलॉन्ग का एक वीडियो वायरल हो रहा है. यह वीडियो मोबाइल फोन से बनाया गया है. इसमें दो कारों को आग लगाते हुए दिखाया गया है. साथ ही प्रदर्शनकारी मुख्य बाजार की दुकानों को बंद कराते नजर आ रहे हैं. एक अन्य वीडियो में शहर की मुख्य सड़क पर लोगों ने टार्च रैली निकालते हुए विरोध दर्ज कराया.

Internet-SMS-stopped-in-Meghalayबुधवार को मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा शिलॉन्ग से 250 किलोमीटर दूर विलियमनगर टाउन में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे. जैसे ही वह हेलिकॉप्टर से उतरे, ‘कैब’ (CAB) का विरोध कर रहे लोगों ने उनके सामने प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने उनके काफिले के सामने ‘कोनराड गो बैक’ के नारे लगाए. इसका भी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. मेघालय पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए लोगों से अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है.

ताते चलें कि नागरिकता बिल का सबसे ज्यादा विरोध असम और त्रिपुरा में हो रहा है. वहां हो रहे प्रदर्शनों में अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है. त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में भी बंद का असर देखने को मिल रहा है. सरकारी दफ्तरों और शैक्षणिक संस्थानों को बंद करवा दिया गया है. पूर्वोत्तर राज्यों में अर्द्धसैनिक बलों ने कमान संभाल रखी है. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को असम के नागरिकों को इस बिल को लेकर आश्वस्त किया और कहा कि यह बिल भारत के किसी भी नागरिक के खिलाफ नहीं है. यह नागरिकता देने वाला बिल है, छीनने वाला नहीं.

मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ पूर्व निर्धारित मुलाकात को बृहस्पतिवार को स्थगित कर दिया, क्योंकि असम में हिंसक प्रदर्शनों और कर्फ्यू लगे होने की वजह से उनके मंत्रिमंडल के साथी गुवाहाटी हवाई अड्डे पर नहीं पहुंच सके. सूत्रों ने बताया कि हालांकि संगमा एलजीबी हवाई अड्डे पर पहुंच गए थे और वह राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना हो गए. एक सूत्र ने बताया कि मुख्यमंत्री ने दिन में पश्चिमी मेघालय का दौरा किया था. गुवाहाटी के बाहरी इलाके में स्थित हवाई अड्डे तक पहुंचने के लिए उन्होंने अलग रास्ते का इस्तेमाल किया, लेकिन उनके कैबिनेट सहयोगी हिंसा प्रभावित गुवाहाटी में फंस गए थे

संगमा को अपने कैबिनेट सहयोगियों के साथ अमित शाह से मिलना था, जिस दौरान वह नागरिकता संशोधन विधेयक के दायरे से मेघालय को पूरी तरह से बाहर रखने की मांग करते. मुख्यमंत्री कार्यालय के करीबी एक अधिकारी ने बताया कि असम में कर्फ्यू और नागरिकता बिल के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों की वजह से गुवाहाटी के बाहरी इलाके में स्थित हवाई अड्डे तक कैबिनेट के मंत्री नहीं पहुंच सके, इसलिए शुक्रवार रात गृह मंत्री से होने वाली मुलाकात को शनिवार सुबह तक के लिए टाल दिया गया है. उन्होंने कहा मंत्री शुक्रवार को एक हेलीकॉप्टर से दिल्ली जाएंगे.