Home भारत कोटा में 104 बच्चों की मौत पर बोले गहलोत- CAA से ध्यान...

कोटा में 104 बच्चों की मौत पर बोले गहलोत- CAA से ध्यान हटाने के लिए उठाया जा रहा मुद्दा

72
rajasthan-kota-hospital-children-deaths-chief-minister-ashok-gehlot-statement

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि हमने 2013 में पहली बार छोटे बच्चों के लिए उपकरण मंगाए थे लेकिन सरकार बदलने के बाद काम ठप हो गया. उन्होंने कहा कि मैं किसी को दोष नहीं दे रहा. राजस्थान के कोटा के अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब तक 104 बच्चों की मौत हो चुकी है. इस पूरे मामले को लेकर गहलोत सरकार विपक्ष के निशाने पर है. इस प्रकरण पर कांग्रेस आलाकमान भी गहलोत सरकार से नाखुश है. इन सबके बीच राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बयान दिया है. उन्होंने पूरे मामले को लेकर मीडिया को ही निशाने पर ले लिया और कहा कि जिस प्रकार से मामले को मीडिया में चलाया गया है उसमें कोई दम नहीं है. पिछले 5 साल में सबसे कम आंकड़े अब आ रहे हैं.

वहीं उन्होंने यह भी कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ पूरे देश में जो माहौल बना हुआ है, उससे ध्यान हटाने के लिए इस मुद्दे को उठाया जा रहा है. मैं पहले ही कह चुका हूं कि इस साल शिशुओं की मौत के आंकड़ों में पिछले कुछ सालों की तुलना में काफी कमी आई है.

पूर्व की सरकार पर निशाना

अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि हमने 2013 में पहली बार छोटे बच्चों के लिए उपकरण मंगाए थे, लेकिन सरकार बदलने के बाद काम ठप हो गया. पूर्व की बीजेपी सरकार और मीडिया पर निशाना साधने के बाद उन्होंने कहा कि मैं किसी को दोष नहीं दे रहा.

उन्होंने कहा कि हमने बच्चों के मामले को लेकर कभी राजनीति नहीं की. पिछली सरकार के दौरान बच्चों की मौतें ज्यादा हुई. सीएम गहलोत ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन खुद डॉक्टर हैं और अगर वह कोटा के अस्तपाल में आते हैं तो उन लोगों के लिए स्थिति साफ होगी जो जाने-अनजाने बयान दे रहे हैं. मैंने डॉ. हर्षवर्धन से फोन पर बात भी की है. मैं उनसे कोटा का दौरा करने का निवेदन किया, ताकि वह सुविधाओं को देख सकें.

एक ओर जहां बच्चों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है, लेकिन सरकार में बैठे लोग पिछली वर्षों में हुई मौतों से तुलना कर रहे हैं. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने पिछले दिनों कहा था कि अगर बीजेपी अपने कार्यकाल के दौरान इस अस्पताल में हुए बच्चों की मौत का आंकड़ा देख ले तो शायद आलोचना नहीं करे. हमने लगातार मौत के आंकड़ों को कम किया है और करते जा रहे हैं.

सरकार ने बनाई टीम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने मामले में एक उच्च स्तरीय टीम गठित की है. स्वास्थ्य मंत्रालय की अगुवाई वाली इस टीम में जोधपुर एम्स के डॉक्टर, हेल्थ फाइनेंस एंड रीजनल डायरेक्टर और जयपुर हेल्थ सर्विस के लोग भी शामिल होंगे. यह टीम शुक्रवार को जेके लोन अस्पताल पहुंचेगी.

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात की है. मुख्यमंत्री को हर संभव सहायता देने का वादा किया है, जिससे बच्चों के स्वास्थ्य को सुधारा जा सके और लगातार हो रही मौतों पर लगाम लगाई जा सके.