Home मेंस हेल्थ टिप्स वजन कम होने के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव

वजन कम होने के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव

38
Underweight-Symptoms-Causes-And-Treatment-In-Hindi

वजन कम होने के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव

दुबला होना स्वस्थ व्यक्ति की निशानी होती है, परन्तु जरुरत से ज्यादा वजन कम होना यह चिंता का विषय हो सकता है। वो भी उस समय जब आप गर्भवती है या आपको दूसरी कोई स्वास्थ्य समस्या है, क्योकि अगर इस स्थिति में आपका वजन कम होता है तो यह हानिकारक हो सकता है, ऐसा होने पर आपको तुरन्त अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। जिस तरह अधिक वजन होना चिंता का विषय है उसी तरह बहुत ज्यादा कम वजन होना भी सही नहीं है। यदि किसी व्यक्ति का वजन कम है, तो इसका मतलब यह है की उसके शरीर को स्वस्थ हड्डियों, त्वचा और बालों के निर्माण के लिए आवश्यक पोषक तत्व नहीं मिल पा रहे हैं। जो आगे चलकर खतरनाक भी साबित हो सकता है। इसलिए आज इस लेख में हम जानेंगे की वजन कम होने के लक्षण और कारण क्या है और इसका इलाज क्या है और वजन कम होने से कैसे बचाव किया जा सकता है।

वजन कम होना क्या होता है

कम वजन वाला व्यक्ति वह होता है जिसके शरीर का वजन स्वस्थ व्यक्ति के वजन से भी कम होता है। कम वजन वाले लोगों का बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) 18.5 से भी कम होता है या 15% से 20% कम होता है जो उनकी उम्र और ऊंचाई के हिसाब से सामान्य नहीं होता है।

वजन कम होने के लक्षण

बहुत से लोगों का यही सवाल होता है की उन्हें कैसे पता चलेगा की वो ओवर वेट है, अंडर वेट है या फिर मोटापे से बहुत ज्यादा पीड़ित है। तो इसके लिए हम आपको बता दें की आप अपने बीएमआई के द्वारा यह पता लगा सकते है की आपका वजन कहीं बहुत ज्यादा कम तो नहीं है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र भी लोगों को स्वस्थ वजन, या अधिक वजन की गणना करने के लिए बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) का उपयोग करने की सलाह देते हैं। बीएमआई का उपयोग करना किसी व्यक्ति के वजन को नापने का एक अच्छा उपाय माना जाता है, क्योंकि यह वजन की तुलना ऊंचाई नापकर करता है।

जैसे, यदि किसी व्यक्ति का वजन 170 किलो है और वह लम्बा भी है तो उसे अधिक वजन वाला व्यक्ति नहीं कहा जायेगा परन्तु अगर उस व्यक्ति की लम्बाई कम है तो इतना वजन उसके लिए खतरनाक हो सकता है। कोई भी व्यक्ति बीएमआई कैलकुलेटर के माध्यम से अपना बीएमआई चेक कर सकता है। बीएमआई कैलकुलेटर की रेंज में शामिल हैं- कम वजन- 18.5 से कमसामान्य / स्वस्थ वजन- 18.5 से 24.9अधिक वजन- 25.0 से 29.9मोटापा- 30 या उससे अधिक

वजन कम होने के कारण

ऐसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से व्यक्ति का कम वजन हो सकता है। कभी-कभी, कई अंतर्निहित कारण भी वजन कम होने का कारण हो सकते है । कम वजन के कारणों में शामिल हैं, जैसे-

कम वजन होने का कारण है परिवार का इतिहास

कुछ लोग में शुरुआत से ही शारीरिक विशेषताओं के कारण ही स्वाभाविक रूप से कम बीएमआई होता हैं जो उनके परिवार के इतिहास के समय से चलता हैं।

वजन कम होने का कारण हो सकता है हाई मेटाबोलिज्म

यदि किसी व्यक्ति का हाई मेटाबोलिज्म होता है, तो उच्च ऊर्जा वाले खाद्य पदार्थ खाने पर भी उनका वजन नहीं बढ़ सकता है जिससे उनको वजन कम होने की समस्या रहती है।

वजन कम होने का कारण बार-बार शारीरिक गतिविधि करना

एथलीट या वे लोग जो उच्च स्तर की शारीरिक गतिविधि में भाग लेते हैं, जैसे धावक आदि, बहुत ही कम मात्रा में कैलोरी जलाते है जिससे उनके शरीर का वजन कम होता है।

कम वजन का कारण है शारीरिक या क्रोनिक बीमारी

कुछ विभिन्न प्रकार के रोग बार बार मतली, उल्टी और दस्त का कारण बन सकते हैं, जिससे वजन बढ़ना मुश्किल हो जाता है। कुछ अन्य स्थितियों की वजह से भी व्यक्ति की भूख कम हो जाती है, इसलिए लोगों को खाने का मन नहीं करता है। जैसे कैंसर, डायबिटीज, थायरॉइड विकार और कुछ पाचन संबंधी स्थितियां, जैसे क्रॉन की बीमारी या अल्सरेटिव कोलाइटिस।

वजन कम होने का कारण हो सकती है मानसिक बीमारी

खराब मानसिक स्वास्थ्य भी व्यक्ति के खाने की क्षमता को प्रभावित करता है, जिसमें अवसाद, चिंता, जुनूनी-बाध्यकारी विकार और खाने के विकार, जैसे कि एनोरेक्सिया और बुलिमिया जैसे रोग शामिल हैं। यह प्रत्येक स्थिति व्यक्ति के शरीर की छवि और भूख को प्रभावित करती है।

वजन कम होने का इलाज और उपचार

यदि कोई व्यक्ति बहुत ही कम वजन का है, तो कई स्वास्थ्यपूर्ण तरीके हैं जिससे वजन को बढ़ाने की कोशिश की जा सकती है। यदि व्यक्ति एक स्वस्थ आहार का पालन करता है तो वजन बढ़ाने के लिए अपने आहार में पौष्टिक कैलोरी से भरे खाद्य पदार्थ शामिल कर सकता हैं। आप चाहें तो आहार विशेषज्ञ के पास भी जा सकते है, वह आपके वजन को बढ़ाने के लिए काम करने वाले आहार योजना को विकसित करने में मदद कर सकता है।

  • वजन बढ़ाने के लिए आहार के कुछ प्रमुख घटकों में शामिल हो सकते हैं
  • बार बार और छोटे भोजन करने की कोशिश करें। अपनी दिनचर्या में अधिक से अधिक स्नैक्स भी शामिल करें।
  • पूरे अनाज, फल, सब्जियां, डेयरी उत्पाद, नट्स और बीज, और लीन प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को अपने आहार में जोड़े।
  • आप कब और क्या पी रहे हैं, इस पर ज्यादा ध्यान दें। डाइट सोडा, कॉफ़ी और अन्य पेय पदार्थों पीने की तुलना में स्मूदी एक बेहतर विकल्प हो सकता है। आप उन्हें फलों, सब्जियों और डेयरी उत्पादों से मिलाकर भी बना सकते हैं।
  • यदि आपको लगता है की किसी तरह का पेय पदार्थ आपकी भूख को कम कर सकता हैं, तो खाना खाने के 30 मिनट पहले तक ऐसा कोई भी पेय पदार्थ लेने से बचें।
  • आप अपने भोजन में पनीर, नट्स, और बीज जैसी चीजों को मुख्य व्यंजनों में टॉपिंग के रूप में शामिल करके अधिक कैलोरी प्राप्त कर सकते है।
  • व्यायाम करना शुरू करें। आप शक्ति प्रशिक्षण करके अपने शरीर में मांसपेशियों का निर्माण कर सकते है और अपने वजन को बढ़ा सकते हैं। वर्कआउट करने से आपको अपनी भूख को उत्तेजित करने में भी मदद मिल सकती है।

वजन कम होने से बचाव कैसे करें

वजन कम होने पर क्या बचाव करना चाहिए ये भी जानना बहुत जरुरी है क्योकि वह व्यक्ति जिसका कम वजन होता है उसे हड्डी टूटने, दांत जल्दी गिरने, और प्रजनन समस्याओं सहित कई विकासशील जटिलताओं के जोखिम का सामना करना पड़ सकता है।
हर व्यक्ति को एक स्वस्थ बीएमआई बनाए रखने का लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए। इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से मदद लेनी चाहिए क्योकि आपका डॉक्टर ही आपका स्वस्थ वजन बनाये रखने में मदद कर सकता हैं।

Previous articleKajal Agarwal HD Wallpapers
Next articleएसिडिटी क्या है, लक्षण और कारण